नशे की दवा देकर डॉ ने चोदा – Antarvasna Sex Story

हेलो दोस्तों, आज मैं आपको अपनी बीवी की चुदाई की कहानी सुनाने आया हूँ।

मैं अपनी बीवी सपना की चुदाई देखना चाहता था।

मैं जब भी सपना से इस बारे में बात करता था तो वह मेरी तरफ बहुत गुस्से से देखती थी।

लेकिन जब रात को कमरे में उसे चोदते समय मैं उसे ये बात बताता था तो उसे बहुत मजा आता था।

सेक्स खत्म होने के बाद सपना कहती थी कि मैं ऐसा कुछ नहीं करूंगी। बस मुझे तुम्हारा लौड़ा बहुत पसंद है। मुझे दूसरे लंड की जरूरत नहीं है।

मैंने कहा- तुम ठीक कह रही हो लेकिन मैं तुम्हें किसी और के लंड से चुदते हुए देखना चाहता हूँ।

सपना बोली- तुम पागल हो और हवस के भूखे हो।

वह सही थी, मैं एक व्यभिचारी पति हूँ।

मैंने कहा – अरे यार, वो बात गलत है, पति जबरदस्ती अपनी पत्नी को किसी और से चोदता है। मैं ऐसा कुछ नहीं करूंगा। जब आप हां कहेंगी, तभी मैं इस काम के लिए राजी होऊंगा। मैं तुम्हे मजबूर नहीं करूंगा।

सपना ने कहा- हां, तुम सही हो लेकिन मैं ऐसा कुछ नहीं करूंगी।

मैंने हंसते हुए कहा- एक दिन मैं तुम्हें इस काम के लिए मना लूंगा।

प्रेमिका के साथ पलंगतोड़ चुदाई का आनंद – Hindi Sex Story

सपना बोली- देखते हैं।

मुझे सपना की मस्त मोटी गांड और गोरी चूत बहुत पसंद है। मेरी पत्नी एक लंबी खूबसूरत सेक्सी महिला है।

अब मैं सपना को किसी गैर मर्द के लंड से चोदने की योजना बनाने लगा।

व्यभिचारी पति और पत्नी का सेक्स यहीं से शुरू होता है।

मैंने सपना को अपने दोस्त डॉ. आशीष मिश्रा के लंड से चोदने के बारे में सोचा।

डॉ. आशीष मिश्रा एक आकर्षक युवक हैं। उनकी उम्र 40 साल है।

जबकि मेरी पत्नी सपना अभी 28 साल की है।

मुझे ज्यादा दिमाग लगाने की जरूरत भी नहीं पड़ी।

एक दिन सपना के पेट में दर्द हो रहा था।

रात को जब मैं घर आया तो मेरी पत्नी बिस्तर पर लेटी हुई थी।

मैंने पूछा- क्या हुआ?

सपना बोली- मेरे पेट में दर्द हो रहा है।

फिर क्या था मेरे मन में सपना को डॉक्टर आशीष मिश्रा के लंड से चोदने का प्लान बन गया जो दिल्ली में रहते थे ।

मैंने कहा- चलो, मैं तुम्हें डॉक्टर को दिखाऊंगा।

सपना- हां चलो।

मैं अपनी पत्नी सपना को डॉक्टर आशीष के पास ले गया।

डॉक्टर मिश्रा की नज़र मेरी बीवी पर बहुत दिनों से थी लेकिन उन्हें सपना के शरीर से खेलने का ऐसा मौका कभी नहीं मिला।

मैं सपना को डॉक्टर के पास ले गया। डॉक्टर मिश्रा ने मेरी पत्नी को वासना भरी नजरों से देखा और बोले- क्या हुआ, तुम आज मुझसे मिलने कैसे आ गए?

मैंने कहा- सर, मेरी पत्नी के पेट में बहुत दर्द है।

डॉक्टर आशीष ने मेरी पत्नी से कहा- अन्दर आओ, मैं तुम्हें चेक करूँगा।

मैंने सपना को चेकअप के लिए जाने को कहा।

जब डॉक्टर आशीष सपना को चेकअप के लिए चेकअप रूम में ले गया तो मैंने दरवाजे की दरार से देखा कि डॉक्टर ने अपने दाहिने हाथ से अपना लिंग पकड़ रखा था।

डॉ. आशीष ने दरवाजा तो बंद कर दिया लेकिन गलती से कुंडी नहीं लगायी।

वो दरवाज़ा अपने आप थोड़ा खुल गया, फिर मैंने देखा कि आशीष सपना के पेट को सहला रहा था और उसने अपने लंड को अपने हाथ से कसकर पकड़ रखा था।

डॉक्टर धीरे-धीरे अपना हाथ सपना की नाभि के पास ले आया।

सपना बोली- दर्द पेट के ऊपरी हिस्से में हो रहा है, निचले हिस्से में नहीं।

आशीष ने कहा- मैं चेकअप कर रहा हूँ। तुम चुपचाप लेटे रहो।

अब आशीष अपना हाथ सपना की नाभि से और नीचे ले गया।

सपना बोली- क्या कर रहे हो?

मैं ये सब बाहर से देख रहा था। (बीवी को चोदा)

ये सब देख कर मेरे लंड में तनाव आ गया था।

जब आशीष का हाथ मेरी बीवी की पैंटी में जाने लगा तो मैं अन्दर चला गया और आशीष से बोला- डॉक्टर साहब, आपको मरीज के साथ ऐसा नहीं करना चाहिए।

डॉक्टर मुझसे कहने लगा- सर, आप गलत समझ रहे हैं। मैं एक डॉक्टर हूँ और अगर आपको लगता है कि मैं आपकी पत्नी के साथ कुछ गलत कर रहा हूँ तो आप इन्हे कहीं और दिखा सकते हैं।

मैंने उसकी तरफ देखा और उससे कहा- क्या हुआ?

उसने मुझे बाहर निकाला।

मैंने उनसे साफ शब्दों में कहा- डॉक्टर साहब, दरअसल मेरी पत्नी चाहती है कि कोई महिला डॉक्टर उसे दिखाए। लेकिन मैं जानता हूँ कि तुम एक अच्छे डॉक्टर हो इसलिए मैं उसके सामने तुम्हें ऐसे ही बता रहा था। मुझे आपकी क्षमता पर कोई संदेह नहीं है। आपके बारे में मुझे कविता भाभी ने बताया था कि आप महिलाओं के साथ बहुत अच्छा व्यवहार करते हैं।

डॉ. मिश्रा ने जैसे ही कविता भाभी का नाम सुना, वे प्रश्नवाचक दृष्टि से मेरी ओर देखने लगे।

वो बोला- आप कविता भाभी को कैसे जानते हैं?

मैंने डॉक्टर का हाथ दबाते हुए कहा- मैं कविता भाभी के कहने पर ही आपके पास आया हूँ। अब मैं बाहर जा रहा हूँ, तुम मेरी पत्नी को ठीक से देख लेना।

मैंने ‘ठीक से देखो।।।’ शब्द पर विशेष जोर दिया और अपनी आँखें बंद कर लीं।

मेरे इशारे से वो भी समझ गया कि वो मै अपनी बीवी को चुदवाने के लिए तैयार हूँ लेकिन मेरी बीवी नहीं मान रही है।

दरअसल, कविता भाभी डॉक्टर मिश्रा की रखैल थीं और डॉक्टर साहब ने खुलेआम भाभी को चोदा था। मुझे इस बात की जानकारी थी और मैंने अँधेरे में तीर चलाकर डॉक्टर को अपने जाल में फँसा लिया।

डॉक्टर ने मुझसे कहा- तुम्हारी पत्नी सचमुच एक सेक्सी गुड़िया की तरह दिखती है और अगर मैं उसके साथ सेक्स करूँ तो तुम्हें कोई आपत्ति नहीं होगी… है ना?

मैने हां कह दिया। मैं बस तुम्हें उसके साथ सेक्स करते हुए देखना चाहता हूँ।

उसने कहा- अच्छा मतलब छिपना या खुले में साथ रहना?

मैंने कहा- फिलहाल मैं छुप कर देखना चाहता हूँ। बाद में स्थिति पर निर्भर करता है।

उसने ठीक का इशारा किया और मुस्कुराया।

अब यह तय हो गया था कि हम दोनों सपना के साथ सेक्स का आनंद लेना चाहते थे और उसे सेक्स करते हुए देखना चाहते थे।

उस दिन मैं अपनी पत्नी के साथ घर वापस आ गया।

सर्दी की रात नाईटी खोल चाची की गांड और चुत मारी -Chachi Ki Chudai Ki Kahani

देर रात आशीष ने मुझे फोन किया और कहा- तुम्हारी बीवी बहुत सेक्सी है। अब मेरा लंड तेरी बीवी की चूत में पानी छोड़ने के लिए तड़प रहा है।

मैंने कहा- डॉक्टर साहब, आप चिंता न करें, आपकी इच्छा पूरी हो जायेगी। बस कुछ ऐसा सोचो जो मेरी पत्नी आपके साथ यौन संबंध बनाने के लिए सहमत होजाए।

डॉ. आशीष ने कहा- एक टेबलेट आती है। अगर वो गोली तेरी बीवी को दे दी जाए तो वो किसी से भी चुदवाने के लिए पागल हो जाएगी।

मैंने कहा- इसका कोई साइड इफ़ेक्ट तो नहीं होगा?

उन्होंने कहा- ऐसा कुछ नहीं होगा।

मैंने आशीष से कहा- तो फिर देर किस बात की? जल्दी से मुझे टेबलेट बताओ, मैं सपना को सुबह पानी के साथ दे दूंगा।

उन्होंने मुझे दवा का नाम बताया और कहा कि कल सुबह तुम अपनी पत्नी को मेरे अस्पताल में भर्ती करा देना। मैं वहीं उसकी चुदाई की रस्म अदा करूंगा। (बीवी को चोदा)

मैं सहमत हो गया और अपनी पत्नी से कहा कि डॉ. आशीष मिश्रा सुबह आपके पेट दर्द का इलाज करेंगे और आपको सुबह मेरे साथ उनके अस्पताल जाना होगा।

वह सहमत होगयी।

सुबह मैंने सपना को पेट दर्द की दवा के बहाने पानी के साथ दवा दी और अस्पताल ले गया।

जब वह अस्पताल पहुंची तो वह पूरी तरह से पागल हो चुकी थी।

मैं भी उसके साथ सेक्सी फ़्लर्ट कर रहा था।

बिस्तर पर लेटने के कुछ ही देर बाद सपना मेरी तरफ सेक्सी नजरों से देखने लगी।

वो बिस्तर से उठा और सीधा मेरा लंड पकड़ लिया।

थोड़ी देर में आशीष मिश्रा आये और उन्होंने देखा कि सपना ने मेरा लंड पकड़ रखा है।

यह देख कर डॉक्टर का पायजामा में लंड खड़ा हो गया।

सपना ने डॉक्टर को दिखाया।

डॉक्टर को देखते ही मेरी बीवी ने मेरा लंड छोड़ दिया।

डॉक्टर बोला- शरमाओ मत, आज तुम मेरी गर्लफ्रेंड हो और अपने पति की पत्नी हो।

मेरी बीवी बोली- मेरी चूत में लंड डालो। डॉक्टर साहब, आज आप मुझे अच्छे से चोदा। मुझे बहुत कष्ट हो रहा है।

डॉक्टर बोला- आज मैं तुम्हें घोड़ी बना कर चोदूंगा और अपना लंड गोद में उठा कर तुम्हारे पति का हाथ तुम्हारी गांड में डलवाऊंगा।

डॉक्टर और सपना की बात सुनकर मेरा लंड और तन गया।

फिर डॉक्टर ने सपना के कपड़े उतारने शुरू कर दिए।

कुछ ही देर में मेरी बीवी सिर्फ चड्डी में थी।

चड्डी में वो बहुत हॉट लग रही थी। गुलाबी चड्डी सपना को और भी हॉट बना रही थी।

अब डॉक्टर ने सपना के स्तन दबाना शुरू कर दिया और सपना ने अपने हाथ से डॉक्टर का लंड पकड़ रखा था।

उन दोनों के कारनामे देख कर मेरे लंड से पानी निकल रहा था।

अब डॉक्टर ने सपना को घोड़ी बनाया और मुझसे कहा- तुम अपने हाथ से मेरा लंड अपनी बीवी की चूत में डालो।

मेरी बीवी बोली- बहुत मज़ा आएगा, आज पहली बार मैं किसी और से चुदने जा रही हूँ।

मैं उसे देख कर हंस रहा था।

सपना बोली- हंसो मत, डॉक्टर का लंड मेरी गांड में डाल दो और तुम मेरे नीचे आ जाओ और तुम भी अपना लंड मेरी चूत में डाल दो।

उसका इतना कहना था तो मैंने डॉक्टर का लंड अपने हाथों से पकड़ लिया।

डॉक्टर का लंड बहुत लम्बा और मोटा था।

मैंने डॉक्टर का लंड सपना की गांड में डाल दिया और मैं खुद सपना के नीचे आ गया।

डॉक्टर ने सपना की कमर पकड़ रखी थी और जोर-जोर से झटके मार रहा था।

सपना के मुँह से आह आह की आवाज आ रही थी।

मैं उसकी चूत में झटके मार रहा था।

सपना दो तरफा सेक्स में खोई हुई थी।

डॉक्टर ने सपना की गांड से अपना लंड निकाला और उसे अपनी गोद में उठा लिया।

उसने मुझसे कहा- सपना की चूत में मेरा लंड डाल दो। (बीवी को चोदा)

मैंने डॉक्टर का लम्बा लंड पकड़ा और सपना की चूत में डाल दिया।

अब डॉक्टर ने सपना को अपनी गोद में ले लिया था और उसकी चूत में झटके मार रहा था।

मेरी बीवी के मुँह से आवाज निकल रही थी- आह और जोर से … मेरी चूत की प्यास बुझा दो … आज मुझे दो लंड मिले हैं।

मुझे उन दोनों की चुदाई देखने में बहुत मजा आ रहा था।

डॉक्टर ने सपना के मुँह में अपना लंड डालने की कोशिश की लेकिन मेरी पत्नी ने मना कर दिया।

डॉक्टर ने कहा- मेरी मदद करो।

मैंने कहा- वो तो मेरा लंड भी नहीं चूसती।

डॉक्टर बोला- आज मैं इसे पहली बार अपना लंड चुसवाऊंगा।

मैंने कहा- वो नहीं मानेगी।

डॉक्टर ने कहा- आप मेरी मदद करें।

मैंने कहा- बताओ मैं क्या करूँ?

वो- तुम अपनी बीवी के दोनों हाथ पकड़ लो।

मैंने अपनी पत्नी के दोनों हाथ पकड़ लिए और डॉक्टर सपना का मुँह पकड़कर लंड डालने की कोशिश कर रहा था, लेकिन वो अपना मुँह नहीं खोल रही थी।

डॉक्टर ने कहा- तुम अपना लंड सपना की चूत में डालो।

मैंने सपना की चूत में लंड डाला और जोर से झटका मारा। (बीवी को चोदा)

उसी समय सपना के मुँह से आह निकलने लगी और डॉक्टर ने अपना लंड सपना के मुँह में डाल दिया।

डॉक्टर कहने लगा- आह क्या रसीला मुँह है … बहुत मजा आ रहा है। पहली बार लंड चुसवाने के लिए टाइट सेक्सी माल मिला।

कुछ देर लंड चुसवाने के बाद फिर उसने अपना लंड निकाला और मेरी बीवी की चूत में डाल दिया।

कुछ देर बाद वो मेरी बीवी की चूत में ही झड़ गया।

अपना लंड हिलाने के बाद उसने मुझसे कहा- मैंने तुम्हारी बीवी की चूत में अपने लंड का पानी निकाल दिया है। कोई दिक्कत तो नहीं है?

मैंने कहा- अरे यार, तुम डॉक्टर हो। दवा दे देना।

वो हंसा।

अब तक सपना बहुत थक चुकी थी।

मैंने डॉक्टर को धन्यवाद दिया।

डॉक्टर ने भी मुझे धन्यवाद कहा और कहा- धन्यवाद दोस्त, इससे तुम्हारे और तुम्हारी पत्नी के बीच रिश्ता और गहरा होगा।

अब कभी-कभी महीनों में मौका मिलता है तो मैं डॉक्टर से सपना की चुदाई करवा लेता हूँ।

हम दोनों अपनी जिंदगी का खूब आनंद लेते हैं।

मेरी बीवी अब पूरी तरह खुल गयी है।

मैं भी व्यभिचारी पति पत्नी सेक्स के लिए दूसरे लंड की तलाश में हूँ।

अगली सेक्स कहानी में बताऊंगा कि मेरी बीवी को चोदने वाला भाग्यशाली लंड किसका था।

आपको इस कुकोल्ड हसबैंड वाइफ सेक्स स्टोरी में मजा आया होगा।

अगर आपको बीवी को चोदा कहानी पसंद आई तो हमें कमेंट बॉक्स में ज़रूर बताएं।