एक खूबसूरत पड़ोसी बहन के साथ कामुक चुदाई – Muslim Sex Stroy

नमस्कार दोस्तों, मैं सोफिया खान हूं, मैं आपको एक बार फिर से एक सेक्स कहानी बताने के लिए वापस आई हूं जिसका नाम है “एक खूबसूरत पड़ोसी बहन के साथ कामुक चुदाई – बहन की चुदाई”। मुझे यकीन है कि आप सभी को यह पसंद आएगा।

सिस्टर चुदाई कहानी मेरे पड़ोस में रहने वाली बहन की चुदाई के बारे में है. दीदी ने खुद पहल करके मुझे आकर्षित किया और हमारे लिए सेक्स करने का रास्ता साफ कर दिया.

नमस्कार दोस्तों, मेरा नाम प्रिंस है. अभी मेरी उम्र 36 साल है. मैं वडोदरा का रहने वाला हूं.

मैं आप सभी को अपनी सच्ची बहन चुदाई कहानी बताने जा रहा हूँ।

ये उन दिनों की बात है जब पहले वो छोटे लाल रंग के कैमरे आते थे, जिनमें Sexy Delhi Escort की नंगी तस्वीरें देखी जा सकती थीं.

मेरी उम्र के दोस्तों ने इसे देखा होगा.

उस समय मैं ग्यारहवीं कक्षा में पढ़ता था।

मेरे पड़ोस में बहुत सी लड़कियाँ और भाभियाँ रहती थीं, लेकिन उनमें से एक लड़की असाधारण थी।

उनका नाम हिमानी दीदी था. सब लोग उन्हें हिमानी कहकर बुलाते थे.

जब भी मैं स्कूल से छूटता, पूरी दोपहर और शाम उसके घर पर बिताता। उस वक्त हिमानी दीदी 24 साल की थीं और मैं उनसे छोटा था.

हम दोनों बहुत अच्छे से घुलमिल गए थे. दीदी ने मुझसे कुछ भी नहीं छुपाया. जब बहन की उम्र शादी की हुई तो उसे सेक्स और लड़कों के लिंग के बारे में जानने की बहुत उत्सुकता थी.

एक दिन बहुत तेज़ बारिश हो रही थी. मैं स्कूल से घर आ गया था.

उस दिन दीदी ने मुझे बुलाया. मेरा घर उसके ठीक सामने था.

मैं बारिश से बचने के लिए उधर भागा और अचानक दीदी से टकरा गया. तभी उसके चूचे मेरी छाती से दब गये.

मैंने उससे माफ़ी मांगी, लेकिन यह पहली बार था जब मुझे किसी के स्तन दबाने का मौका मिला था.. इसलिए मुझे बहुत अच्छा लग रहा था।

उसके स्तन बहुत बड़े नहीं थे लेकिन फिर भी मुझे मजा आया.

भाई के दोस्त ने ब्लैकमेल कर के चुदाई की -muslim sex story मैंने दीदी से पूछा- क्या काम है?

वो अपने मम्मे सहलाते हुए बोली- आज घर क्यों नहीं आये?

मैंने कहा- बारिश हो रही थी इसलिए नहीं आया.

वहाँ केवल वह और उसका बड़ा भाई ही रहते थे। उसका भाई दलाली का काम करता था, इसलिए वह अक्सर घर से बाहर रहता था।

दीदी ने मुझसे पूछा- क्या तुमने कभी किसी लड़की को नंगा देखा है? मैंने कहा- सच तो नहीं, लेकिन मेरे दोस्त के पास कैमरा है, मैंने कई बार देखा है।

उस समय भारी बारिश हो रही थी. दीदी बहुत गर्म हो रही थी और मुझसे और भी खुल कर बात कर रही थी.

उसने मुझसे कैमरे के बारे में पूछा और इसके साथ क्या आता है।

मैंने उसे खुल कर बताया कि इसमें एक लड़के और लड़की की सेक्स करते हुए फोटो हैं. उसने मुझसे कहा- ये कैसी तस्वीरें हैं, प्लीज़ मुझे खुल कर बताओ.

यह सुन कर मेरा लंड उत्तेजित होने लगा.

मैं उसकी आंखों में नहीं देख पा रहा था.
मैं चुप रह गया।

दीदी ने मुझसे ऊंची आवाज में पूछा- बताओ! मैंने मना कर दिया- मैं नहीं बता सकता.. मुझे नहीं पता कि कैसे बताऊँ।

दीदी उत्तेजित होने लगीं और मुझसे बोलीं- मेरी शादी होने वाली है. मैं सब कुछ सीखना चाहता हूं. नहीं तो बाद में परेशानी होगी.

मैं उनको देखने लगा और सोचने लगा कि कैसे बताऊं.

दीदी ने मेरा हाथ पकड़ लिया और मुझसे मदद करने के लिए कहा- तुम्हें बताना नहीं आता, लेकिन करके बता सकते हो! मैंने फिर भी कुछ नहीं कहा.

फिर दीदी ने मेरे लंड को छुआ.
मुझे बहुत अच्छा लगा.

फिर मैंने बहन से पूछा- किसी को बताओगी तो नहीं?

दीदी ने मेरी तरफ देखा और सिर हिलाया और किसी को न बताने की हामी भरी. अब दीदी ने मेरा हाथ पकड़ा और अपनी जांघ के पास रख कर अपनी चूत से सटा दिया.

उसने मुझे अपनी चूत छूने देकर मदहोश कर दिया. मेरा लिंग और भी टाइट हो गया.

वह शादी से पहले सेक्स करना चाहती थी.

फिर उसने मेरा लंड पकड़ लिया और मेरा हाथ अपने मम्मों पर रखवा दिया. मैंने एकदम से गाना शुरू कर दिया.

मैंने उसके स्तन दबाये.

अगले ही पल दीदी ने अपने होंठ मेरे होंठों पर रख दिये और मुझे चूमने लगीं. मैं भी मजे से उसके दोनों मम्मे दबाने लगा.

मैंने पहली बार किसी लड़की को छुआ.
मेरा लंड गीला हो गया.

काफी देर तक किस करने के बाद दीदी ने मुझसे मेरी पैंट उतारने को कहा.

मैंने जल्दी से अपनी पैंट उतार दी और उसने मेरे गीले लिंग को कपड़े से साफ किया और अपने मुँह में डाल लिया।
वो लंड चूसने लगी.

कुछ ही देर में मेरा वीर्य उसके मुँह में छूट गया. वो मेरे लंड को मटन की हड्डी की तरह चूसती रही और सारा रस पी गयी.

अब वो भी पूरी नंगी हो गयी. उसने मुझे फर्श पर लिटा दिया और अपनी गीली चूत मेरे चेहरे पर रगड़ने लगी.

मुझे घिन आ रही थी लेकिन मुझे अपनी बहन की चूत चाटनी पड़ी. मुझे नहीं लगा कि वह पहली बार चुद रही है।

कुछ ही देर में उसकी चूत का सारा नमकीन पानी मेरे मुँह में आ गया.

फिर दीदी ने मेरा लंड फिर से अपने मुँह में ले लिया और खूब चूसा. जब मेरा लिंग फिर से उत्तेजित हो गया तो वो मेरे लिंग पर बैठ गयी.

मेरे लंड का बुरा हाल हो गया था. मुझे ऐसा लग रहा था जैसे उसमें से खून निकल रहा हो. मैंने दीदी को धक्का दिया और उठने लगा और बोला- हट जाओ दीदी, मुझे दर्द हो रहा है.

उसने लंड को चूत से निकाला और फिर से मुँह में ले लिया और चूसने लगी. मुझे अपना लंड चुसवाने में मजा आ रहा था इसलिए मैंने कुछ नहीं कहा.

अब वो वैसलीन ले आई और लंड पर लगा ली. उसने फिर से मुझे धक्का दिया और झट से मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरा लंड अपनी चूत में डाल लिया.

इस बार लंड चिकना था इसलिए अन्दर चला गया.

दीदी आह आह करते हुए अपनी बड़ी गांड मेरे लंड पर उछालने लगी.

काफी देर के बाद उसकी चूत से पिचकारी निकली.
मैं भी सेक्स के दौरान वीर्यपात करता हूँ।

उसने मेरे लंड को चूस कर साफ कर दिया और मुझे खूब चूम कर धन्यवाद दिया.

मुझे बहुत अच्छा लगा. दीदी ने मुझे पैसे दिये और अगले दिन कैमरा और डार्क चॉकलेट लाने को कहा.

मुझे लगा कि उसने खाने के लिए चॉकलेट लाने को कहा होगा. लेकिन बात कुछ और थी.

अगले दिन मैं स्कूल से घर आया और जल्दी से अपनी वर्दी बदली और अपनी बहन के घर की ओर जाने लगा।

मैंने स्कूल बैग से कैमरा और चॉकलेट उठाई और एक बैग में रख ली ताकि कोई देख न सके.

फिर हिमानी खेलने जाने का बहाना बनाकर जल्दी से दीदी के घर पहुंच गई. मैंने पहले अपनी बहन को चिढ़ाने के लिए चॉकलेट और कैमरा छिपा दिया था।

जैसे ही मैंने अपनी बहन को फोन किया.

वह नहाने के लिए बाथरूम में गयी थी.
दीदी ने मुझे कमरे में रुकने को कहा.

मुझे बेचैनी होने लगी और मेरा लिंग टाइट होने लगा.

वहां बिस्तर पर मुझे दीदी की ब्रा दिखी, जो उन्होंने नहाने से पहले उतार दी थी. मैंने ब्रा उठाई और सूंघने लगा.

मेरा लिंग उत्तेजित हो गया. मैंने झट से अपना लिंग बाहर निकाला और ब्रा के ऊपर से ही मुठ मारने लगा।

तभी बाथरूम का दरवाज़ा खुलने की आवाज़ आई।

मैंने झट से अपना लंड अंदर डाला और ब्रा को फर्श पर फेंक दिया और बैठ गया. कुछ देर बाद बहन नहा कर आ गयी.

उन्होंने पिंक कलर का गाउन पहना था.

क्या गजब लग रही थी वो. उसके बदन से बहुत मस्त खुशबू आ रही थी.

उसने मुझसे पूछा- कैमरा और चॉकलेट कहाँ हैं?

मैंने शरारत से कहा- दीदी, मैं वो लाना भूल गया.

दीदी गुस्सा हो गईं और मुझे मारने दौड़ीं.

मैं वहां से भागने लगा.
दीदी मेरे पीछे भागने लगीं.

तभी मैं अचानक रुक गया और दीदी मुझसे टकरा गईं.

मैंने मजे से उसके मम्मे दबाये. फिर मैंने हंसते हुए उसे कैमरा और चॉकलेट वाला बैग दे दिया.

वो बहुत खुश हो गयी और मुझे चूमने लगी. फिर हम दोनों जल्दी से बिस्तर पर पहुंचे और दीदी कैमरे की तरफ देखने लगीं.

कैमरे में सोलह तस्वीरें थीं.

दीदी मजे से एक-एक करके सभी फोटो देखने लगीं. मैं उसके करीब बैठ गया और अपना लंड सहलाने लगा.

फोटो देखते हुए दीदी बोलीं- आज हम पांचवीं फोटो जैसा करेंगे. मैंने सिर हिलाते हुए हां कहा.

ये डॉगी स्टाइल था.

दीदी मेरे लंड को ऊपर से ही सहलाने लगीं. मैं दीदी के मम्मे दबाने लगा.

कुछ देर बाद दीदी ने चॉकलेट उठाई तो मैंने पूछा- दीदी, आप चॉकलेट का क्या करना चाहती हो?

वो बोली- मैं तुम्हारा लंड मीठे से चाटूंगी.
मुझे तो लंड सुनकर मज़ा आ गया.

उसने मुझसे अपने सारे कपड़े उतारने को कहा और मुझे पूरा नंगा कर दिया. मुझे शर्म आ रही थी.

फिर उसने चॉकलेट का पैकेट खोला और उसका पेस्ट बनाकर मेरी छाती पर, मेरे निप्पल पर, मेरी गांड के छेद के बीच में … और मेरे लंड पर लगा दिया.

आधी चॉकलेट अलग रख दी.

फिर उसने मुझे लिटाया और मेरे ऊपर चढ़ गई और मेरे निप्पल पर लगी चॉकलेट को अपनी जीभ से चाटने लगी.

मुझे बहुत गुदगुदी होने लगी लेकिन मजा भी आ रहा था.

धीरे धीरे वो लिंग पर आ गयी और मेरा पूरा लिंग निगल गयी.
लंड पर लगी सारी चॉकलेट चाट गयी.

6.8 हाइट का सांड, 10inch का लंड और हिजाबवाली लड़की- Muslim Sex Story जब मैं झड़ा, तो उसने उसे चॉकलेट के साथ आइसक्रीम की तरह खुशी से पी लिया।

फिर दीदी ने मुझे उल्टा लिटाया और मेरी गांड की दरार में अपनी जीभ डाल दी और सारी चॉकलेट चाटने लगीं.

इस तरह कुछ ही देर में उसने मेरे शरीर पर लगी सारी चॉकलेट खा ली.

अब उसने मुझे बची हुई चॉकलेट दी और उसे अपने शरीर पर लगाने को कहा.

मैंने इसे बहन के बड़े स्तनों और उसकी गीली चूत पर लगाया।

उसने मुझसे चॉकलेट चाट कर खाने को कहा, तो मैंने अपनी बहन के मम्मे दबाये और उन्हें चूसने लगा.

उसके मुँह से ‘आह…आह…आह’ निकली। की आवाज निकलने लगी.

अब उसने मुझे अपनी चूत से चॉकलेट चाटने को कहा. मैंने मना कर दिया।

तो उसने मुझे ज़ोर से थप्पड़ मारा, मेरे बाल पकड़ लिए, मुझे अपनी चूत पर दबाया और मेरे चेहरे पर हाथ फेरने लगी।

साथ ही दीदी मुझे गाली देने लगीं- मादरचोद कुत्ते … सिर्फ तू ही नहीं, तेरा बाप भी मेरी चूत चाटेगा.

इस तरह दीदी ने अपनी चूत अच्छे से चटवा ली और मुझे भी अपनी चूत का नमकीन पानी पिला दिया.

फिर उसने मुझे किस करते हुए सॉरी भी कहा.
चाट कर मुझे भी बहुत मजा आया.

मेरा लिंग ढीला हो गया था इसलिए उसने फिर से उसे मुँह में लेकर चूसना शुरू कर दिया और मेरे लिंग को टाइट कर दिया।

वो कैमरे की फोटो की तरह जमीन पर घोड़ी बन गयी और मुझसे एक झटके से अपना लंड अन्दर डालने को कहा.

मैं अपना लंड हिलाते हुए उसके पीछे आ गया.

उसने अपने हाथों से मेरे लंड को अपनी टाइट चूत पर सेट किया और मुझे जोर से धक्का लगाने को कहा. मैंने पूरी ताकत से धक्का लगाया और एक ही बार में अपना पूरा लंड अन्दर डाल दिया.

दीदी चिल्ला उठीं- उई मां … मर गई.
उसे उस दर्द का आनंद लेना था.

फिर मैं धीरे-धीरे अपने लिंग को आगे-पीछे करने लगा।
मुझे भी मजा आने लगा.

दोस्तो, सेक्स कहानी के अगले भाग में मैं आपको बताऊंगा कि कैसे मैंने हिमानी दीदी के साथ थ्रीसम सेक्स का मजा लिया और अपने एक दोस्त की मदद से उनकी चूत और गांड को एक साथ दो लंड से चोदा.

आपको मेरी सेक्स कहानी कैसी लगी मुझे कमेंट सेक्शन में बताएं.